GOVINDDEVJI

कृष्णाय  वासुदेवाय  हरये  परमात्मने | प्रणत  क्लेश  नाशाय  गोविन्दाय  नमो  नमः ….. क्षण-क्षण में उल्लास हो।   कदम-कदम के सफल कथानक,  विजय वरण विश्वास हो।  अभिलाषाएं लब्ध रहें सब,  वैभव के विन्यास तले,  रहे दक्षता कर्मयोग में;  आँखों भरा उजास हो।